स्टॉक वाच : बीएसई | एनएसई

श्री उपिंदर सिंह मठारू

बीएचईएल हाउस, सीरी फोर्ट, नई दिल्‍ली –110049

011-26001002

pmgus@bhel.in

श्री उपिंदर सिंह मठारू

निदेशक (पावर)

संक्षिप्त जीवन वृत्त

श्री उपिंदर सिंह मठारू ने भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल) के निदेशक मंडल में 21.03.2022 से निदेशक (पावर) के रूप में पदभार ग्रहण किया। श्री मठारू थापर इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, पटियाला से 1984 बैच के मैकेनिकल इंजीनियरिंग स्नातक हैं। वे ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) के सरकार द्वारा प्रमाणित ऊर्जा प्रबंधक और ऑडिटर हैं। उन्होंने बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (मार्केटिंग) में स्नातकोत्तर डिग्री भी अर्जित की है।

श्री मठारू ने वर्ष 1985 में बीएचईएल के इंडस्ट्रियल वाल्व प्लांट (आईवीपी), गोइंदवाल में इसकी स्थापना के दौरान कार्यभार ग्रहण किया। उनके पास लगभग 37 वर्षों का विविध प्रकार का बहुमुखी अनुभव है; आरंभ में आईवीपी गोइंदवाल और एचपीबीपी तिरुचिरापल्ली की विनिर्माण इकाइयों का तथा उसके बाद परियोजना प्रबंधन प्रभागों सहित बीएचईएल के पावर सेक्टर प्रभाग में काम का अनुभव है। उन्होंने बीएचईएल के पावर सेक्टर-पूर्वी क्षेत्र (पीएसईआर), कोलकाता का नेतृत्व भी किया है। 

श्री मठारू ने पावर सेक्टर-पूर्वी क्षेत्र प्रमुख के रूप में एफजीडी परियोजनाओं के अतिरिक्त भारत और विदेशों में 8,000 मेगावाट से अधिक की थर्मल और हाइड्रो परियोजनाओं का निष्पादन करवाया है। परियोजना प्रबंधन प्रभाग में अपने कार्यकाल के दौरान, उन्होंने पावर सेक्टर की क्षमता वृद्धि में महत्वपूर्ण योगदान देने के अतिरिक्त, कंपनी की विभिन्न परियोजना प्रबंधन प्रक्रियाओं और प्रणालियों को विकसित करने में महती भूमिका निभाई थी। बीएचईएल की विनिर्माण इकाइयों में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने उपसंविदा, सामग्री प्रबंधन, ऑपरेशन प्लानिंग और कंट्रोल, प्रबंधन सेवाओं सहित विविध कार्यक्षेत्रों का अनुभव प्राप्त किया। आईवीपी, गोइंदवाल की स्थापना से ही वे सक्रिय रूप से कार्यरत थे।

श्री मठारू मृदुभाषी व्यक्ति हैं। उन्हें एक विश्वसनीय प्रोफेशनल के रूप में जाना जाता है। श्री मठारू को पावर सेक्टर परियोजनाओं के त्वरित कार्यान्वयन के इकोसिस्टम का व्यापक ज्ञान और अनुभव है।

विनिर्माण इकाइयों और कॉर्पोरेट प्रकार्यों में उनके व्यापक अनुभव ने उन्हें व्यावसायिक माहौल के संभावित परिवर्तनों का आकलन करने तथा कंपनी की विकास रणनीतियों के निर्माण हेतु प्रभावी योगदान देने में सक्षम बनाया है।

पिछले पृष्ठ मे वापस जाएं | पृष्ठ अंतिम अद्यतन तिथि : 24-03-2022